Google+ Followers

Friday, July 5, 2013

Desires---My Hindi Poem! ABHI KUCH HASRATEIN BAAKI HAI-------

.
अभी कुछ  हसरतें बाकी हैं ........
रूहानी सुबहों में-- तुम्हारे साथ वक़्त बिताना  ...
अभी बाकी है
बारिश की ठंडी फुहारों में--- तुम्हारे साथ वक़्त बिताना  ...
अभी बाकी है…
गर्मियों की ठंडी रातों में ----तुम्हारे साथ वक़्त बिताना  ...
अभी बाकी है…
सर्दियों की गर्म धुप में -----बाग़ों में तुम्हारे साथ वक़्त बिताना ...
अभी बाकी है---
हाथों में हाथ लिए ---यूँ ही खामोश बैठ कर----
कुछ वक़्त तुम्हारे साथ बिताना ------
यह हसरत अभी तो  बाकी है-----

Chitrangada Sharan
All Rights Reserved.


Chitrangada Sharan Images